IP Address Kya Hai (Complete Guide in Hindi)

आज आप इस लेख में जानेगे, IP Address Kya Hai और इसके type क्या है?IP Address in Hindi

यहाँ आप ये भी जानेगे

  • IP Address को track कैसे करते है?
  • IP Address change कैसे करे?

 

इस guide की खास बात ये है|

आपको इस लेख IP Address in Hindi में बहुत सारे useful जानकारी भी होगी|

 

IP Address Kya Hai

अगर आप internet का use करते है तो आपने IP address के बारे में जरूर जानना चाहिए|

IP address के बहुत से फायदे है, जैसे

  • Block website को open कर सकते है|
  • आपको कोई आसानी से hack नहीं कर पायेगा|
  • अपने computer speed improve कर सकते है|
  • IP address से आप आपने computer के location change कर सकते है|

Definition of IP address in hindi:

IP address का full from Internet Protocol Address है|

जो devices internet से connect होते है उन सब IP address होता है, सभी devices का unique IP address होता है|

IP Address के मदद से किसी भी computer को identify और track कर सकते है|

 

IP address काम कैसे करता है|

जब भी devices से Internet पर कुछ भी Search करते है तो IP Addresses से network को पता चलता है, data कहा आया कहाँ send करना है| फिर वह Information को उस Internet Protocol Address पर send कर देता है|

बिना IP address के किसी भी devices को Internet से जोडा नहीं जा सकता|

IP address example in Hindi:

  • 32 Bit binary IP address: 192.186.112.39
  • 128 Bit binary IP address: 2102:db4:0:1134: 0:367:1:2

 

Note: किसी भी Computer के लिए दो IP Address हो सकते हैं|

  1. पहला Internet connection के लिए.
  2. दूसरा local area के रूप में.

IP Address 2 type के होते है आपको निचे विस्तार से बताया गया है|

 

IP Address Version in Hindi

IP Address के दो Version है, जो इस प्रकार है|

  1. IPv4(Internet Protocol Address Version 4)
  2. IPv6(Internet Protocol Address Version 6)

 

1.IPv4 in Hindi

IPV4 Address 1983 में ARPANET Production के लिये विकसित किया गया था|

यह Version Internet Engineering Task Force (IETF) द्वारा बनाया गया और RFC 791 में प्रकाशित किया गया था|

IPv4 को Ethernet Communication के लिए बनाया गया इसमें “Five classes” है|

  1. Class A
  2. Class B
  3. Class C
  4. Class D
  5. Class E

 

IPV4 address तीन प्रकार के होते है|

  1. Unicast
  2. Broadcast
  3. Multicast

 

IPV4 version में 4,294,967,296 addresses store किये जा सकते है|

Internet Protocol Version 4 (IPV4) में 32-bit number address scheme का use किया जाता है|

IPv4 में 0 से 255 तक के number का 4 set होता है जो dot ( . ) द्वारा अलग किया जाता है।

IPv4 को 4 classes में divide किया गया है इसकी Range 0.0.0.0 से लेकर 255.255.255.255 तक होती है|

For example:  173. 225. 3.19

 

IPV4 Address Classes In Hindi

IP4V address को class में divide किया गया है|

और class को 5 category (A, B, C, D, E) में बाटा गया है, जिसका range आप निचे देख सकते है|

IP ClassFirst Octet RangeDefault Sub netmask
Class A1-127255.0.0.0
Class B128-191255.255.0.0
Class C192-223255.255.255.0
Class D224-239Reserved for Multicast
Class E240-255Reserved for R & D

 

Class A➤ Class A की range 1 से 127 होती है और इस class का default subnet mask 255.0.0.0 होता है। इस Class में 127 network होते है और हर network में 16777214 hosts होते है।

इस range के IP address Class बहुराष्ट्रिय company को दिये जाते हैं।

Example for a Class A IP address: 2.134.213.2

 

Class B ➤ Class B की range 128 से 191 होती है। इस Class में 16384 networks होते है और 65534 hosts हर network में होते है।

इस range के IP address उसे दी जाती है जहा internet का ज्यादा use होता है|

Example for a Class B IP address: 135.58.24.17

 

Class C➤ Class C की range 192 से 223 होती है। इस class के IP addresses का default subnet mask 255.255.255.0 होता है। इस class में 2097152 network होते है और 254 hosts हर network में होते है|

इस range के IP address small और medium company को दी जाती है|

Example for a Class C IP address: 192.168.178.1

 

Class D➤ Class D के IP address multicast के लिए reserved है। इस class के addresses का कोई subnet mask नहीं होता| इस range के IP address security के लिए होते है|

Example for a Class D IP address: 227.21.6.173

 

Class E➤ इस range के IP address experimental use के लिए use होता है|

Example for a Class D IP address: 243.164.89.28


2. IPv6 in Hindi

आज दिन पर दिन internet user के कारन ये address काम होने लगी है|

इस problem के solution के लिए developer ने IPv6 version को बनाया|

IETF ने 1994 में IPV6 ko शुरू किया| यह एक network layer protocol है|

Internet Protocol Version 6 (IPV6) में 128-bit number का use किया जाता है|

IPv6 में 8 hexadecimal number का set होता है जिसे colons ( : ) द्वारा अलग किया जाता है।

इसका Range 0 से FFFF के बीच होता है|

For example:  2001: 1276: 0a8c: 1234: 0000: 0001: 0576: 008b


What is difference between IPv4 and IPv6 in hindi

IPv4 में 4 billion IP address store किया जा सकता है|IPv46 में 340 undecillion IP Address store किया जा सकता है|

IPv4IPv6
32 IP address128 IP address
इसकी सुरुआत 1981  में हुयी थी|इसकी सुरुआत 1999  में हुयी थी|
Decimal में लिखा जाता हैHexadecimal में लिखा जाता है
इसमें Fragmentation,  Sender और forwarding router दोनों के द्वारा किया जाता है|इसमें Fragmentation bas Sender के द्वारा किया जाता है|

 

IP Address Kaise Pata Kare

(अपना IP Address कैसे पता करे?)

अगर आप अपने Computer का IP address पता करना चाहते है तो आपको निचे details में बताया गया है|

Ip address पता करने का दो तरीके हैं|

  1. पहला तरीका, Internet
  2. दूसरा तरीका, CMD (Command Prompt)

Internet से IP address कैसे देखे|

Internet से आप website की मदद से अपने computer का IP address check कर सकते है|

सब से पहले Google open करे और search करे “my ip address

my ip address

आपके सामने आपका public IP address show हो जायेगा|

Note: इस process से आप अपना public IP address पता कर सकते है|


CMD से IP Address कैसे पता करे|

Step 1: सब से पहले अपने computer में Window keyword या Window icon पर click करे और वहाँ CMD लिखे|

cdn

Step 2: आपके सामने CMD open हो जायेगा अब “ipconfig” type कर “Enter” press करे|

ip address check

Step 3: आपके सामने आपके computer का IP address show हो जायेगा|

ip address check in cmd

Note: इस process से आप अपना private IP address पता कर सकते है|

 

How to Change Your IP Address In Hindi

(IP Address कैसे बदलें)

जब भी आप internet से connect होते हैं, ISP (Internet Service Provider) आपके device पर एक IP Address assigns करता है use आपका device track होता है|

इसलिए लोग Internet privacy की सुरक्षा के लिए अपना IP Address बदल लेते है|

आपको निचे IP address change करने के तरीके बताये गए है|

 

  1. VPN Extension का use कर के

आप VPN के मदद से अपने computer का IP address change कर सकते है|

Internet पर ऐसे बहुत से free VPN extension है जिसे आप अपने browser में use कर IP change कर सकते है|

आपको निचे best 3 VPN extension का link दिया गया है|

 

  1. Free Web Proxy का उपयोग कर के

अगर आप VPN proxy नहीं use करना चाहते है तो आप website के मदद से IP address change कर सकते है|

internet पर ऐसे बहुत से website होते है जो block होते है, government उसे block कर देते है इस situation में आप निचे दिए हुए site से कोई भी website को open कर सकते है|

आपको निचे कुछ proxy website के नाम बताये गए है|

 

Conclusion

आशा है, यह लेख से आपको अच्छे से जानकारी हो गई होगी IP address kya hai और कैसे काम करता है|

मेरे ख्याल से सभी internet user को ip address के बारे में जानना जरुरी है, इसलिए ये लेख मैंने लिखा है|

IP address in hindi guide से related आपको कोई भी सवाल हो या कोई suggestion हो आप निचे comment box में बता सकते है|

इस लेख को अपने social media और friend के साथ share करे जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगो को इसके बारे में जानकरी हो|

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 Shares