Network Kya Hai और कितने प्रकार है? (Best Guide Network In Hindi)

आज के इस लेख में आपको Network Kya Hai और type क्या है बिल्कुल सरल भाषा में समझाया गया है|

अगर आप internet के regular user है तो आपको ये जानकारी जरूर होनी चाहिए|

यहाँ आपको ये सब भी सिखाया गया है|

  • Networking किस तरह से काम करती है?
  • Networking के फायदे क्या है?
  • Networking के उदेश्य क्या है?

 

अगर आप कोई competitive exam की तैयारी कर रहे या आप engineering के student है तो ये लेख आपके लिए बहुत जरुरी है

आइये ज़रूर करते है,

Computer Network Kya Hai

जब एक से अधिक computer आपस में किसी माध्यम के जरिये जुड़ते है तो उसे network कहते है|

Computer network की मदद से आप information को कुछ ही second में एक जगह से जगह transfer कर सकते है|

Networking में सभी computer आपस में connect होकर एक दूसरे से संचार स्थापित करने है और सूचनाओं, संसाधनों को साझा करते है

Networking में में हजारों और लाखो computer आपस में connection बनाते है|

Network से जुडे प्रत्येक devices को Node कहते हैं और जो Resources मुहैया कराता हैं उसे server. |

Computer Network को data Network भी कहते है, data किसी भी प्रकार का हो सकता है,

जैसे, digital या analog.

 

Data Communication Component in Hindi

आपको निचे सभी Data communication के बारे में बताया गया है|

1. Sender: जहाँ से डाटा भेजा जाता उसे Sender कहते है.

2. Receiver: Sender द्वारा भेजे गए सभी data को Receive करता है तो उसे Receiver कहते हैं.

3. Message: Sender और receiver के बिच जो information या data होता है उसे message कहते हैं.

4.Transmission Medium: वो devices जिसके सहायता से Sender Receiver को data भेजता है.

5. Protocols: उसका मतलब है “Rules“. Sender और Receiver के बिच जब message transfer होता है तो कुछ rules को follow करना होता है.

 

Types of Computer Networks

आप अच्छे से जान गए Network क्या होता है और नेटवर्क का use कहाँ होता है|

अब जानते है, Network कितने प्रकार के होते हैं?

Network बहुत types के होते है, जिसे उनके बनावट, capacity, कार्यशैली, size, area के आधार पर बाटा गया है|

Computer Network normally 3 type के है, “LAN”, “MAN” और “WAN

ओर इसकेअलावा भी बहुत से Network है आपको सब निचे बताया गया है|

  1. LAN
  2. MAN
  3. WAN
  4. PAN
  5. HAN
  6. CAN

 

LAN Kya Kai – LAN network in Hindi

यह एक ऐसा network है जिसका प्रयोग दो या दो से अधिक computer को जोड़ने के लिए किया जाता है| LAN network स्थानीय स्तर पर काम करने वाला network है, ये सबसे simple Network है|

LAN का use एक छोटे क्षेत्र के लिए होता है और इसे setup करने में कम खर्चा होता हैं। इसमें user की संख्या लिमिटेड होती है|

और ये data transfer करने के लिए सब से तेज communication channel प्रदान करता है|

जैसे- School, College कार्यालय या भवन में इसका use होता है|

LAN Full Form in hindi: LOCAL AREA NETWORK

 

Wireless LAN Network in Hindi

Wireless LAN Network technology में बिना तार के एक छोटे भौगोलिक क्षेत्र में commutation किया जाता है|

Wireless LAN को स्थापित करने के लिए WiFi तकनीक का प्रयोग किया जाता है|

Wireless LAN को internet से जोड़कर गतिमान रहते हुए net का प्रयोग करते है|

 

Man Kya Hai – Man network in Hindi

MAN network ऐसा network है जो LAN से बड़ा है पर WAN से छोटा|

इस नेटवर्क के द्वारा राउटर, स्विच और हब्स मिलकर एक मेट्रोपोलिटन एरिया नेटवर्क का निर्माण करता हैं|

ये आम तौर पर college, school या office को आपस में connect करने के लिए इस्तेमाल होता है और ये एक शहर को दूसरे शहर को भी जोरता है|

ये network एक से ज्यादा PAN, LAN network को मिलकर बना होता हैं और इसका दायरा 10 – 100 KM के बिच होता है|

MAN Full Form in hindi: METROPOLITAN AREA NETWORK

 

WAN Kya Hai – WAN network in Hindi

WAN सबसे बड़ा network होता है, ये network पूरे विश्व को जोड़ने का कार्य करता है|

Internet भी एक WAN का ही type है, यह दुनिया का सबसे बडा network होता हैं|

WAN में बहुत सारे LAN, WAN आपस में जुडे रहते हैं|

इस network में security पर बहुत धयान दिया जाता है इसके लिए इसमें बहुत सारी technology, protocol (TCP/IP, ATM, MPLS) का use होता हैं जिसके कारन WAN network सभी network के तुलना में बहुत मँहगा होता हैं|

WAN दो प्रकार के होते हैं।

  1. GLOBAL WAN
  2. ENTERPRISE WAN

 

WAN बहुत सारे wide area network को connect करता है. जैसे,

  • Banking
  • Railway
  • Military
  • Airline reservation

 

WAN Full Form in hindi: WIDE AREA NETWORK

 

Network device in Hindi

Networking stable करने के लिए medium (Devices) की जरुरत परती है|

आपको निचे कुछ network medium के बारे में बताया है|

 

1. HUB: Hub एक ऐसा network device है जो multiple Ethernet device को आपस में connect करता है, जिस से वो आपस में resources को share कर सके|

इसमें बहुत सारे ports होते हैं इसलिए हम इसको multi port repeater भी कहते हैं|

Hub के प्रकार

  1. Active hub: इसमें single को regenerate करने के साथ उसे amplify भी करते हैं और active hubs को काम करने के लिए electricity की जरूरत परती है
  2. Passive hub:ये आ रहे signal को आगे distribute करता है इसके लिए electricity की जरूरत नहीं पड़ती|
  3. Intelligence hub: ये network traffic को monitor करने में help करता है|

 

2. Switch: यह information के packet में computer के MAC address check कर send करता है| ये hub से अच्छा devices होता है|

Switch में बहुत सारे Multiple ports होता हैं और यह सभी ports को MAC address को Switch table में store करके रखता है ताकि MAC address के अनुसार उस port तक directly data भेजा जा सके|

Switch दो प्रकार के होते है|

  1. Manageable switch: ये layer 3 devices है
  2. Unmanageable switch: ये layer 2 device है

 

3. Modem: Modem के बड़े में आप जानते होंगे, ये internet use करने के लिए use होता है|

Modem totally wireless होता है mobile SIM डाल कर networking से जुड़ सकते है|

For example:

  • Micromax Modem
  • Airtel Modem

 

4. Router: network में Router wire और wireless के माध्यम से जोड़ा जाता है|

आज के time में modem से कम और Router का बहुत use होता है,

इसके कुछ कारन है,

Router बहुत fast network system है और इसके use में कम रुपए खर्च होते है|

ज्यादा तर ये College, office, school, home में use होता है|

 

5. Bridge: Router दो अलग अलग network को जोड़ने का काम करता है जबकि Bridge same network को जोड़ने का काम करता है| OSI Model में, bridging Data link layer में perform होता है|

 

दो line segment को आपस में connect करा कर उसके बिच में commutation establish करता है|

ये एक type का broadcasting method पर कम करता है|

 

6. Repeater: कही से अगर data आ रहा तो उसे Repeater accept करता है और उस data जो ख़राब हो उसे पहले data को regenerate करता है|

मतलब data जब long distance से आता है तो उसमे noice आ जाता है उस salutation में Repeater उस data के bit pattern को regenerate करता है उसके बाद data जो आगे send कर देता है|

अगर आपको LAN की सिमा बढ़ाना है तो इसका use किया जाता है|

 

Networking में career कैसे बनाये

Networking courses कर के आप Network engineer, Network security expert, Network एडमिनिस्ट्रेटर, Desktop support engineer, Team Leader, technical हेड, technical support engineer, System analyzer आदि बन सकते है|

Computer Networking क्षेत्र में कार्य करने वाले युवाओं को 15 हजार से लेकर 1 लाख तक salary मिलत है|

 

Conclusion

इस लेख माध्यम से आपने जाना Computer Network Kya Hai और network के types क्या है?

आशा है, आपको इसके के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो गई होगी।

अगर आपको इस लेख से related कोई भी सवाल और या सुझाव हो, निचे Comment Box में पूछ सकते है।

इस को अपने दोस्तों और अपने social media me जरुर share करें, जिसे ज्यादा से ज्यादा लोगो तक जानकारी हो|

और ऐसे ही रोचक जानकारी के लिए इस website पर regular visit करते रहे|

3 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0 Shares